welcome to indis's first archaeological network - PURATATVA

JOIN US

इतिहास हमेशा से उत्सुकता का विषय रहा है. अपने इतिहास को जानना और उस समय की सभ्यता और संस्कृति को जानना हो, तो आप भी इन जगहों पर एक बार ज़रूर जाएं. Sign up to hear from us about events

" UNESCO ने भारत के तमाम  ऐतिहासिक  स्थलों को  उनके  सांस्कृतिक और   ऐतिहासिक महत्त्व के आधार पर वैश्विक धरोहर माना है.इतिहास में रुचि  रखने वाले और घूमने के शौक़ीन लोग ज़्यादातर कुछ गिने-चुने स्थानों पर ही जाते हैं. जबकि हमारे देश में ऐसे बहुत से स्थान हैं, पुरातात्विक स्थल है  जो भले कम प्रसिद्ध हों मगर ये भारतीय इतिहास का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं.  वर्तमान  समय में, राष्ट्रीय महत्व के कुल 3650 से अधिक   प्राचीन स्मारक तथा पुरातत्वीय स्थल और   अवशेष देश भर में विद्यमान हैं । ये स्मारक  विभिन्न  अवधियों से संबंधित है जो प्रागैतिहासिक अवधि से उपनिवेशी काल तक के हैं, जो कि विभिन्न   भूगोलीय स्थितियों में स्थित हैं। इनमें मंदिर, मस्जिद, मकबरे, चर्च, कब्रिस्तान, किले, महल, सीढ़ीदार कुएं, शैलकृत गुफाएं, दीर्घकालिक वास्तुकला तथा साथ ही प्राचीन टीले तथा प्राचीन आवास के अवशेषों का प्रतिनिधित्व करने वाले स्थल शामिल हैं। ।"           

                                                                                         

पुरातत्व यात्रा नेटवर्क से जुड़िये और रोजगार प्राप्त करे

यात्रा गाइड ,यात्रा होस्टे और यात्रा वितरक बन कर भारत के पहले पुरातात्विक नेटवर्क का हिस्सा बने

Find out more\ join us

प्राचीन भारत की यात्रा

image1

भारत के  प्राचीन धरोहरों की सुविधा जनक यात्रा के लिये पुरातत्व .कॉम एक श्रेष्ठ विकल्प है हम पुरातात्विक यात्रा कराने वाले भारत के पहले यात्रा  समूह है 

हजारो पुरातात्विक स्थलो से जुड़े

image2

भारत के हजारो पुरातात्विक  केंद्र और राज्य और भारतीय पुरातात्विक द्वारा संरक्षित स्मारको और धरोहरों के यात्रा और जानकारी के लिए  पुरातत्व समूह से जुड़िये |

भारत की पहली पुरातात्विक संस्था

image3

पुरातात्विक धरोहरों के प्रति रूचि रखने वालो के लिए भारत की पहली पुरातात्विक संस्था " पुरातत्व .कॉम " है जो निरंतर  प्राचीन  धरोहरों के रख रखाव  और उनके प्रति लोगो को जागरूक करने का प्रयास करता रहा है 

भारत के पहले पुरातात्विक विशेष वेबसाइट में आपका स्वागत है !

प्राचीन भारत की यात्रा देश की समय के साथ विकास को बताता है

प्राचीन भारत की  यात्रा  के रोमांच से बेहतर कुछ भी नही !

इतिहास जीवन की सच्चाई बताता है

आज की सच्चाई अतीत में छिपी है जिसके लिए प्राचीनतम धरोहरों की यात्रा जरुरी है !

भारतीय पुरातात्विक स्थल विदेशो में प्रशिद्ध है

भारतीय पुरातात्विक स्थल देखने विदेशियों की संख्या लगातार बढ़ रही है !

भारत के पहले पुरातात्विक नेटवर्क से जुड़िये

भारतीय पुरातात्विक स्थलो के बारे में एक नजर